Click
Home / Fashion / Life & Love / बस में महिला ने कहा रुको जरा धीरे मै कपडे उतर रही हू

बस में महिला ने कहा रुको जरा धीरे मै कपडे उतर रही हू

loading...

आजकल के लोगो की सोच को देख कर तो यही कहने का दिल करता है की ना जाने मेरे इस शहर को हुआ की है हर कोई हवस का शिकार होता जा रहा है

224688401

इसी सोच को बताने के लिए आज FIRSTLATESTNEWS एक ईएसआई ही कहानी लाया है जो आपको इस बात को मानने के लिए मजबूर कर देगा

आप सबके साथ भी कई बार एसा हुआ होगा की कोई कुछ और कहता है और हम उसका कोई और ही मतलब निकाल लेते है और कई कई बाते तो ईएसआई भी होती है जिसके डबल मतलब निकलते है –

  •  जो की सही होता है
  • जो की गलत होता है मतलब की जिसे हम आजकल के चलन के अनुसार डबल मीनिंग की बाते बोलते है

चलिए अब हम हमारी कहानी पर आते है कहानि थोड़ी मजेदार भी है जिसके अंत में आपको हसी भी आयगी लकिन यह सच है क्योकि यह हम सबके साथ होता है

कहानी एक बस चालक और एक महिला यात्री की है

बस चलाने के लिए कंडक्टर ने घंटी बजाई तो पीछे से एक मधुर आवाज आई –  जरा ठहरिए, धीरे करिए, मैं कपड़े उतार रही हूं। बस फिर क्या था, बस में बैठे …सभी लोगो की सोच में कामवासना का ज्वालमुखी फुट उठा और सबकी नज़रे पीछे इस आशा में चली गयी की उनको कुछ हसीं नजारा देखने हो मिलगा

बस में बैठे लोगों के दिल धड़कने लगे, सबने पीछे मुड़कर देखा
देखा तो कपड़ा धोने वाली अपने कपड़ों की गठरी उतार रही थी।

यह सोच ही एक कारण है जिसके कारण आज देश में इसी शर्मनाक और इन्सानियात को तार-तार कर देने वाली हरकते हो रही है इसलिए मित्रो मेरी आपसे यही गुजारिश है की प्लीज अपने इस देश की लडकियों की इज्जत कीजिये उनका सम्मान कीजिये क्योकि वही है जिनके कारण आज हम इस संसार में जीवित है|

धन्यवाद्|

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *